Health Tips In Hindi : अच्छी सेहत कैसे बनाये Top 4 घरेलू उपाय



आज इस पोस्ट में हम health tips in hindi for man body  पढेंगे। साथ ही health tips in hindi for woman body के बारे में बतायेंगे। तथा सेहत बनाने के कुछ उपाय home remody in hindi में बताने वाले है।
हमारी भारतीय संस्कृति में जो युगों से चला आ रहा है, उसमें से हर चीज का एक positive रवैया है। हमारी पिछली पीढियां जो पहले से निभाती आ रही है। बस उसमें हमें गौर करने की जरुरत है। उनमें ही अनमोल सेहत के खजाने छुपे हुए है।
Health Tips In Hindi : अच्छी सेहत कैसे बनाये Top 4 घरेलू उपाय

पहले के लोग क्या करते थे? आप सभी जानते होंगे कि पुराने लोग तांबे के बर्तन में पानी पीया करते थे और उसी में पानी भरकर रखते थे। वह उपवास करते थे और उठने बैठने की पद्धिति सही थी।

आज कल ये सभी आदते छूटती जा रही है और लोग नयी आदतों को अपना रहे है। हमारी संस्कृति धीरे -२ दूर होती जा रही है। आज हम इन सभी चीजों से सेहत बनाने के उपाय बतायेंगे और साथ ही यह बतायेंगे इनके पीछे विज्ञान क्या बोलता है। इन उपायों को आप natural health tips in hindi या ramdev health tips in hindi भी बोल सकते है।

Good Health Tips In Hindi : अच्छी सेहत कैसे बनाये Top 4 घरेलू उपाय :


चलिए जानते है कि man or woman इन उपायों को अपनाकर कैसे सेहत बना सकते है। इसके बारे में हम top 4 best health tips in hindi में लेकर आयें है। चलिए इनके बारे में जानें।

1. तांबे के बर्तन में पानी पीना है जरुरी -


तांबे के बर्तन को किटाणुनाशक कहा जाता है। यह बात हम नहीं यह बात खुद बैज्ञानिकों ने साबित कर दी है। और अब भी इस पर कई रिसर्चे चल रही है। इससे बने बर्तन में पानी पीने से याददाश्त में जबरदस्त इजाफा होता है।

यदि रात को तांबे के बर्तन में रख दिया जाय और सुबह उठते ही उसे पी लिया जाये तो शरीर में स्फूर्ति बढती है तथा एक नयी शक्तिशाली शरीर का आभास होता है। ऐसा लगता है मानो शरीर में ऊर्जा का भंडार है।

इसके लिए रात में सोते समय तांबे के बर्तन में पानी डाल दें। और सुबह पी लें। यह पानी के सभी दोषों से मुक्त करता है। आप जानतें ही होंगे कि चाहे नल का पानी का हो या आरो का। उसमें कुछ न कुछ किटाणु या दोष रहता ही है। तांबे का बर्तन उसे फिल्टर कर देगा।

जिसे भूलने की बीमारी है तो उसके लिए यह एक वरदान है फिर से अपने आप को Develop करने का।

2.  शरीर को आराम दें न कि नींद -


जी हां आपने सही पढा, शरीर को आराम की जरुरत होती है न कि ज्यादा नींद की। यदि शरीर को समय समय पर आराम दिया जाये तो अपने आप नींद के कुछ घंटे कम हो जायेंगे। वैसे यह कहा जाता है कि स्वस्थ मनुष्य को 8 घंटे की नींद बहुत होती है। लेकिन कुछ लोग तो सोचतें है कि नींद से ही उनकी थकान मिटेगी लेकिन वे गलत है। यदि थोडी देर तक आराम करने के लिए दे दिया जाये तो थकान अपने आप मिट जायेगी। नींद को अपनी लाइफस्टाइल में समिति ही रखे।

कुछ लोग तो आराम के टाइम भी टेंशन लेते है। वह ज्वागिंग में भी जाते है तो कुछ न कुछ सोंचकर टेंशन लेते रहते है। अरे भाई उतने टाइम तो शरीर को आराम दे दो नहीं तो तुम्हारे टहलनें का फायदा ही क्या मिलेगा? 

अब बात आती है आखिर कितनी नींद लेनी है। वह सब आप पर डिपेंड करता है कि तुम्हें कितना श्रम करना है या कितना सोना है। कम परिश्रम करना है तो भोजन कम करें। यदि ज्यादा तो ज्यादा खायें। नींद उतनी लें जितने में आराम महसूस होने लगे। 

3. दो हफ्ते में एक दिन उपवास रखने की कोशिश करें - Health tips on hindi


14 दिन में एक दिन अवश्य है जिस दिन शरीर में कैलोरी की कोई आवश्यकता नहीं रहती है क्योंकि एक दिन मंडल चक्र काम करता है जिससे आदमी को खाने का मन नहीं करता है।

फिर भी कइ लोग इस दिन को भी नहीं छोड़ते है। अरे जब मन नहीं है तो क्यों ठूस रहे हो। एक दिन का उपवास ही कर लो। इस दिन आपके पेट की सफाई ही हो जायेगी।

फिर भी मन नहीं मान रहा है तो फलाहार व्रत रख लो। इससे भूख से लडने की शक्ति भी मिल जायेगी और काम करने के लिए ऊर्जा। यदि फिर भी दिक्कत हो रही है तो शरीर के साथ जबरदस्ती करने की कोई जरुरत नहीं है। हमें सेहत के लिए ऐसा काम ही करना चाहिए जिससे शरीर को कोई कष्ट न हो। शरीर को कष्ट मुक्त रखना ही सेहत कहलाता है।

भोजन उतना ही करना चाहिए जितना कि परिश्रम करना है। न उससे ज्यादा खायें न ही उससे कम। दोनो ही दशा में शरीर को कष्ट मिलता है। यही health care tips in hindi है।

4. पीठ को सीधी करके बैठे -


प्राचीन लोग कुर्सी में सीधे बैठते थे। आजकल तो कई आरामदायक कुर्सियाँ आने लगी है जिसमें पीठ सटाकर बैठने से पीठ झुक जाती है पीछे की तरफ। पीठ के अलावा शरीर के अंदर कई मुलायम और नाजुक अंग है जिनमें से पेट भी शामिल है। पीठ के अलावा इन अंगो को भी आराम की आवश्यकता होती है। पीठ को सीधी रखकर बैठने से इन अंगो को भी  आराम मिलता है।

यदि लंबे समय से पीठ झुकाकर बैठा जाये तो जीवन के चार से पांच माह कम हो जाते है। क्योंकि लगातार इस मुद्रा में बने रहने से शरीर को कई गंभीर नुकसान होते है। आजकल कार या बसों में इस तरह की आरामदायक सीट लगी रहती है। यदि इन पर लम्बे समय तक बैठा रहा जाये तो शरीर अकड़ जाता है। अत: रीढ की हड्डी सीधी रही तो मांसपेशियों या शरीर में कोई परेशानी नहीं होगी।

अच्छी सेहत बनाने के ये 4 घरेलू उपाय कैसे लगे? कमेंट में जरुर बतायें। health diet tips in hindi में पाने के लिए हमारे ईमेल पोस्ट की सर्विस को जरुर subscribe करें। यह option सबसे नीचे मिलेगा। पोस्ट पसंद आयी है तो शेयर अवश्य करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ