हैलो मित्रों क्या आप जानते है कि Google Question Hub क्या है - What is google question hub in hindi? यदि नहीं तो आज इस पोस्ट के माध्यम से आपको इसके बारे में सबकुछ बतायेंगे। गूगल सर्च इंजन और सोसल मीड़िया नें यह ट्रेंड में चल रहा है।



Google question hub tool को गूगल ने ऑफेसियल हिन्दी ब्लॉगर्स और यूजर्स के लिए बनाया ताकि पब्लिसर को इस बात का पता चल सके कि उसके यूजर आखिर किस तरह के पोस्ट पढना चाहतें है। यह बिल्कुल फ्री है और इसका यूज करके बहुत सारा ब्लॉग ट्रॉफिक बढाया जा सकता है।

इस टूल को इसलिए बनाया ताकि इसकी मदद से हिन्दी कंटेट की कमी को दूर किया जा सके। क्योंकि अन्य भाषाओं में बहुत सारा कंटेट मिल जायेगा लेकिन हिन्दी में बहुत कम कंटेट लगभग 1℅ ही है।

तो चलिए जानते है कि google question hub क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करते है तथा इसके फायदे क्या है।

Google Question Hub क्या है -

इसका मेन उद्देश्य यूजर्स के सवालों को जानने के लिए बनाया गया है। कभी-2 ऐसा होता कि यूजर के मन में ऐसा सवाल होता है जिसका जवाब गूगल के पास भी होता है।

गूगल के सवालों का जवाब ब्लॉगर्स ही तो देते है यदि वे लोग नहीं देंगे तो गूगल जवाब ही नहीं दे पायेगा। इसलिए गूगल ने ये फ्री टूल बनाया है ताकि ब्लॉगर्स को यह आइड़िया लग सके आखिर उसके यूजर्स चाहतें क्या है।

इसके लिए गूगल ने यूजर को अपना सवाल पूंछने के लिए question submit करने का ऑप्सन दिये है और उस डाटा को गूगल क्वेस्चन हब में रिस्टोर कर देता है ताकि ईच्छुक ब्लॉगर्स उसका जवाब दे सके।

इससे फायदा न सिर्फ रीडर को होता है बल्कि ब्लॉग राइटर को भी होता है क्योकिं इससे एक को ट्रॉफिक मिलेगा और एक को उसके सवाल का जवाब। 

अत: यदि किसी यूजर के सवाल का जवाब नहीं मिल पा रहा गूगल में और उसका जवाब कोई ब्लॉगर नहीं दे रहा है तो तुरन्त गूगल फीडबैक में डाल दें हफ्ते भर में कोई न कोई जवाब अवश्य दे देगा।

इसलिए इस टूल का यूज यूजर और पब्लिशर दोनो कर सकते हैं।

गूगल फीड़बैक कब काम करता है -

हिन्दी के बारे में गूगल बाबा के सोचनें का नजरिया भी अलग है। उसका मानना है कि अंग्रेजी कंटेट का तुलना में हिन्दी कंटेट बहुत ही कम है। ऐसा उसका मानना भी सही है क्योंकि वाकई हिन्दी कंटेट की कमी है।

इसी कमी को पूरा करने के लिए उसने फीडबैक का ऑप्सन दिया है। यह तभी काम करता है जब कोई सवाल सर्च इंजन से पूंछा जाता है लेकिन उसका जवाब नहीं मिल पाता है। ऐसे में फीडबैक का ऑप्सन पॉप होता है ताकि जिस सवाल का जवाब मौजूद नहीं है उसका जवाब ले सके।

इससे राइटर को भी मदद मिल जायेगी की अब उसे फलाने टाइटल पर नयी पोस्ट लिखनी है।

गूगल Question Hub के फायदे -


1- इससे पोस्ट लिखने के लिए नया टाइटल मिल जाता है या आइडिया लग जाता कि अब किस बारे में आर्टिकल लिखना चाहिए।

2- ब्लॉग ट्रॉफिक के साथ search queries भी मिल जाती है जिससे अंदेशा लगाया जा सकता है कि यूजर इस समय क्या सर्च कर रहे हैं।

3-  इसमें पोस्ट की लिंक सबमिट करके एक हाई क्वालिटी की डूफॉलो लिंक ले सकते है जो ब्लॉग को ट्रॉफिक देने के साथ रैंक भी करने में मदद करेगा।

Google Queation Hub Features Details In Hindi -


चलिए जानते है इसमें क्या फीचर्स दिये जाते है। इससे आपको यह पता करने में आसानी हो जायेगी कि इसमें क्या-2 ऑप्सन या विकल्प है। जिससे इसे चलाने में मदद मिल जायेगी।

1- Questions -


यहां पर सभी पूंछे गये सवालों की लिस्ट मिल जायेगी जिसका जवाब यूजर जानना चाहतें है। यहॉ से ंमनचाहे सवाल का न सिर्फ जवाब दे सकते बल्कि जिसका नहीं देना चाहतें है उसे रिजेक्ट भी कर सकते है।

2- History 


इसमें सभी सवाल ओर जवाब कि लिस्ट मिलेगी जिसमें दिखाया जायेगा कि आपने कितने सवालों के जवाब दिये है और क्या जवाब दिये है। या कितने सवालों के जवाब पायें है।
यहां आपको रिजेक्ट किये गये टॉपिक भी दिखाई देंगे।

3-Topics - 


इसकी मदद से एक स्पेशल कैटेगरी चुन सकते है जिसके बारे में आप ज्यादा जानते है। इससे यह फायदा होगा कि जो आप कैटेगरी चुनेंगे बस उसी से सम्बन्धित सवाल आपको दिखाई देंगे।

मान लो हम जैसे ब्लॉगिंग में ज्यादा आर्टिकल लिखते है तो हमें इस कैटेगरी के सवालों का जवाब देने के लिए चुनना चाहिए।

4- settings And Feedback -


सेटिंग की मदद हिस्ट्री और डिलीट कर सकते है और नये भाषा का चुनान कर सकते है। फीडबैक अलग मेनू है जिसमें किसी भी प्रकार का सवाल पूंछ सकते हैं।

Question Hub को ज्वाइन कैसे करे या करते हैं -

इसके लिए https://questionhub.google.com/ को ब्रॉउजर में ओपेन कर ले और साइन अप में क्लिक करके एक एकाउंट बना ले और फिर सभी डिटेल भरकर लॉगइन कर सकते है।

तो आपको पता ही चल गया होगा कि Question Hub क्या है या what is question hub in hindi.  यदि इसके बारे में कोई सवाल है तो कमेंट में जरूर पूंछे। 

Post a Comment

Previous Post Next Post