HHS Giveaway - Win Rs. 2,000 prize
Join now

Support Me India के निर्माता जुमे दीन खान की सफलता की कहानी

Support Me India के बारे में कौन नहीं जानता? शायद ही कोई हो। मैं कॉफी दिनों से इनका ब्लॉग पढ रहा हूं। इनके ब्लॉग या वेबसाइट से ही प्रेरणा पाकर मैनें यह वेबसाइट बनायी है। आज हम सफलता के अंतर्गत उनसे जुडी सभी जानकारियां देंगे।
Jume deen khan

इससे पहले मुझे पता नहीं था कि ब्लागिंग से भी दूसरो की मदद कर सकते है। मुझे बचपन से ही लेखन में बहुत रूचि थी पर पता नहीं था कि इसे ऑनलाइन भी स्टार्ट कर सकते है। जब मैं इनके ब्लॉग में गया तब पता चला कि वाकई ब्लॉगिंग की मदद से अपने पैशन को अपना कैरियर बना सकते है।

Support me india के founder या मालिक jume deen khan ji है। यह ब्लॉग उन्होंने 14 अगस्त 2016 को बनाया था। इसका डोमेन नेम उन्होंने godaddy की वेबसाइट से खरीदा था।

चलिए जानते है कि suppormeindia (सपोर्ट मी इंडिया) के फाउड़ंर की सफलता की कहानी।

Support Me India - भारत का सर्वश्रेष्ठ हिन्दी ब्लॉग 

मैं कॉफी दिनों से इनके ब्लॉग पर गौर कर रहा हूं। लगभग तीन महीने से ज्यादा हो गयें है और मैने पाया कि गूगल में चाहे ब्लॉगिंग, सीईओ, वर्डप्रेस, ब्लॉगस्पोट या टेक तथा सोसल मीडिया के बारे में कुछ भी सर्च करो सबसे पहले इनका ही ब्लॉग आता है।

और इनके ब्लॉग की एलेक्सा रैंक भी औरो के मुताबिक बहुत कम है। यानी इस ब्लॉग में सर्च इंजन से बहुत ज्यादा ट्रैफिक आ रहा है। इनकी वेवसाइट की वर्तमान में इंडिया की एलेक्सा रैंक 11373 है और ग्लोबल रैंक 179426 है। वैसे इन्हें ब्लागिंग में सफलता 2015 में ही मिल गयी थी और अपने ब्लॉग में इन्होंने इसके बारे में कई पोस्ट लिखे हैं और अपनी इनकम रिपोर्ट भी शेयर की थी।

अब अपनी इनकम की बात चली है तो मैं इनकी पहली इनकम भी बताये देता हूं जिसे उन्होंने 1 मई 2016 को अपने एक आर्टिकल में शेयर किया था।

Support me india earning report

यानी पहली कमाई में इन्होंने 76000  रूपये कमा लिये थे। अब आप इससे जान ही सकते है कि इतनी कमाई हुई है तो इनके वेबसाइट में बहुत सारा ट्रॉफिक भी होगा। जी हां अापने बिल्कुल सही सोंचा।

वर्तमान में उनकी वेबसाइट में 500000+ ट्रॉफिक सर्च इंजन से आता है।  अगस्त 2018 की बात करे तो इनकी कमाई और बढ गयी है और यह कमाई 376000 हुई थी।

चलिए अब जुमे दीन खान के बारे में जानते है। यह alwar city राजस्थान के निवासी है।

About jume deen khan


जैसा कि आप इनकी प्रोफाइल देख सकते है इन्होंने बीएड भी किसा है। इनकी तीन वेबसाइट है जिनके नाम क्रमश:  है - supportmeindia, supportmeworld, suppportmehindi है। अब इन्होंने सवाल जवाब की ask.supportmeindia website भी बना ली है जिसकी मदद से तुरंत ही सवालों के जवाब पा सकते है।

वैसे इनकी सभी websites फेमस है लेकिन सबसे ज्यादा supportmeindia जो हर एक के जुबान पर है।

Support Me India के फेमस या सफल होने के कारण - 


Support me india के प्रशिद्धि का सबसे बडा कारण उनकी content quality को जाता है। वे जब भी कोई आर्टिकल लिखते है तो हमेशा कोशिश करते है कि सबसे हटके नयी जामकारी शेयर कर सकते है।

वे अपनी पोस्ट को ऐसी लिखते है जिससे कोई भी आसानी से समझ सके। वे हर हमेशा अपने पाठको के लिए नयी जानकारी लाते रहते है।

वे अपने ब्लॉग में सीईओ, ब्लॉगिंग, एफिलेट मार्केंटिंग, एडसेंस, मोबाइल टेक और सुरक्षा से संबन्धित आर्टिकल शेयर करते रहते है।
यदि आप इस वेबसाइट में डेली जाते है तो इसकी गारंटी मैं देता हूं यहां आपको हर दिन कुछ न कुछ जरूर सीखने को जरूर मिलेगा।

दूसरी सबसे बडी़ इनकी क्वालिटी यह है कि यदि इसमें कमेंट से कोई जवाब पूंछते है तुरन्त ही कुछ घंटो मे मिल जाता है। यानी support me india का response rate बहुत ही अच्छा है। जबकि दूसरे ब्लॉगर जवाब देने में 2 से 3 दिन अवश्य ले लेते है।

Support Me India की सफलता का सबसे बडा़ कारण उनकी कुछ अलग करने की सोंच थी जिसने जुमे दीन खान को सफलता के ऊंचे शिखर पर बैठाया था। जब उन्होंने ब्लॉग बनाया था तब गिने चुने ही हिन्दी वेबसाइट हुआ करते थी। ऐसे में नयी टेकनिक लाना बडी़ ही दुर्लभ बात थी लेकिन jume deen khan ने मेहनत की। लोगों को इनका अंदाज बेहद पसंद आया। पहले ही दिन से इनके वेबसाइट का गूगल सर्च इंजन का ट्रॉफिक 500+ था।

अत: support me india की सफलता का राज उनके कुछ अलग करने के नजरिये ने बनाया है।

यदि आप भी इस Supportmeindia वेबसाइट से कुछ सीखना चाहतें है तो इस वेबसाइट में क्लिक करके अवश्य जाये़ं।
अगली बार हम support me india के बारे में एक इंटरव्यू लेकर आयेंगे जिसमें हम बतायेंगे कि सफलता
के शिखर तक पहुंचने के लिए उन्हें किन किन मुश्किलों का सामना करना पडा़।

तो आपको support me india के निर्माता जुमेदीनखान की सफलता की कहानी कैसी लगी? कमेंट में जरूर बताएं।

एक टिप्पणी भेजें

6 टिप्पणियाँ