Mother's Day 2019(Mena) - मदर्स डे पर बना गूगल डूडल जानिये खास बातें

आज गूगल ने मातृ दिवस पर एक डूडल बनाया है तथा इसके माध्यम से सभी लोगों को इस दिवस की याद दिलायी है। यह त्योहार मार्च के दूसरे रवीवार को मनाया जाता है। यानी इसे 15 से 18 मई को मनाया जाता है।
Mother's Day 2019(Mena) -  मदर्स डे पर बना गूगल डूडल



भारत में तथा अन्य देशों में इसकी तिथियॉ अलग-2 है लेकिन यह सभी देशो में मनाया जाता है। मां ं ममता की जननी होती है वह अपने पुत्र के लिए क्या कुछ सहन नहीं करती। मां को ममता की मूर्ती का दर्जा दिया जाता है।

मदर्स डे (मेना) की शुरूवात कब, क्यों और कैसे हुईं है - मातृत्व दिवस का इतिहास -


युरोप तथा लंदन में माताओं के सम्मान को लेकर कई कार्यक्रम चलायें जाते है। इसके लिए यहां एक फेस्टिवल अवकाश बनाया गया है जिसे मदरिंग संडे के नाम से जाना जाता है। इसकी शुरूवात वर्जिन मेरी और मदर चर्च के सम्मान में चौथे रवीवार को मनाया गया था। लेकिन अब पहले या दूसरे संडे को ही मना लिया जाता है।

इस दिन घर के सभी सदस्यों को अपनी मां को उपहार गिफ्ट करने का प्रावधान किया गया है।

अमेरिका में mother's day की शुरूवात 1870 में जूलिया वार्ड होवे ने की थी। उन्होंने इसके लिए एक किताब लिखी थी जिसमें अमरेकी युद्ध तथा माताओं के सम्मान को लेकर बातें लिखी गयी थी।

एना जार्विस ने सेकेण्ड संडे को यह त्योहार मनाया था और इसके लिए एक समिति भी गठित की थी ताकि सब कोई इसे मना सके।

भारत में मातृत्व दिवस कस्तूरबा गांधी के सम्मान में मनाया जाता है।

चीन में इस दिवस की शुरूवात 1997 में गरीब मांओ के सम्मान के लिए शुरू किया गया था लेकिन बाद में इतना पॉपुलर हुआ कि सभी लोग इसे मनाने लगे। जबकि जापान मे वहां कि महारानी के जन्मदिन पर यह कार्यक्रम मनाया जाता है।

स्पेनिश में यह मारिआ मोलिनर (María Moliner) के जन्मदिन की खुशी में 30 मार्च को मनाया जाता है।

भारत में या अंतरराष्ट्रीय मदर्स डे 2019 कब मनाया जाता है -


सभी देशों में इसको लेकर कई तिथियां है और इसे कई अन्य नामों से भी जाना जाता है। भारत में या अन्य कई देशों में इस दिन को 15 से 18 मई को मनाया जाता है लेकिन इस बार दूसरा रवीवार 12 मई को है इसलिए 2019 में यह 12 मई को मनाया जायेगा। जबकि यूके में यह दिन 6 मार्च को होता है।

अंतरराष्ट्रीय वूमेन्स डे जो कि 8 मार्च को पूरे देश में मनाया जाता है। उसे भी महिला के सम्मान और गरीमा को बताने के लिए बनाया गया है लेकिन इसे मां दिवस के रूप में ही मनाया जाता है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ